बोले राहुल- मुझे थोड़ा धक्का लगा तो क्या हुआ, लाठी खाने को भी तैयार

कांग्रेस नेता राहुल गांध ने पंजाब के पटियाला से हाथरस की घटना को लेकर सरकार पर हमला बोला। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ और उसकी हत्या कर दी गई, लेकिन देश के प्रधानमंत्री कुछ नहीं बोलते हैं। मैं पीड़ित परिवार को बताना चाहता हूं कि वे अकेले नहीं हैं, हम उनके लिए खड़े हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि पूरे देश को धकेला जा रहा है, मारा जा रहा है, पीटा जा रहा है। हाथरस जैते समय मुझे थोड़ा सा धक्का लग गया तो क्या बड़ी बात है। ऐसी सरकार है अगर हम खड़े होंगे तो धक्का लगेगा, लाठी लगेगी…ठीक है खा लेंगे धक्का क्या बड़ी बात है।

कृषि कानूनों पर हल्ला बोलते हुए उन्होंने कहा कि ये जो कानून प्रधानमंत्री जी ने बनाए हैं, ये खेती के मौजूदा ढांचे, खाद्य सुरक्षा के मौजूदा ढांचे को नष्ट करने का तरीका है। ये किसानों पर आक्रमण है और इस आक्रमण को हम रोकेंगे और इन कानूनों के खिलाफ हम लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि अगर इन कानून से फायदा होता तो फिर संसद में डिबेट क्यों करवाई, अगर फायदा है तो कोरोना के वक्त ही क्यों पास किया।

कांग्रेस नेता ने आगे कहा की ये देश अपने युवाओं को रोज़गार नहीं दे पाएगा, नरेंद्र मोदी ने ढांचा तोड़ दिया है। अब नरेंद्र मोदी खेती के ढांचे को तोड़ने जा रहे हैं, अगर खेती के ढांचे को तोड़ दिया तो एक तरफ रोज़गार नहीं मिलेगा और दूसरी तरफ भोजन नहीं मिलेगा। मैं आज जो कहूंगा उसका भी मजाक उड़ाया जाएगा लेकिन 6 महीने बाद लोगों को समझ में आएगा।

चीन को लेकर राहुल गाधी ने कहा कि पीएम करते हैं कि हिन्दुस्तान की ज़मीन किसी ने नहीं ली, चीन ने हमारी 1200 स्क्वायर किलोमीटर ज़मीन ले रखी है। ऐसा इसलिए है क्योंकि चीन को पता है कि ये व्यक्ति जो ऊपर बैठा है ये सिर्फ अपनी ईमेज की परवाह करता है।