यूपी में दरोगा की ब्लैकमेलिंग से तंग आकर गंगा में कूदी युवती

कानपुर : कानपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने पुलिस की वर्दी पर एक और दाग लगा दिया है। एक युवती ने डायल 112 पर फोन कर अपने दरोगा फूफा पर रेप करने का आरोप लगाया। कहा, ‘मैं गंगा में कूदने जा रही हूं ट्रैफिक पुलिस में तैनात दरोगा ने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी है। मेरा अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करके महीनों रेप किया। अब जबरन मेरा गर्भपात करा दिया और अपने बेटे के साथ मिलकर बेरहमी से पीटा है। मैं कहीं भी मुंह दिखाने लायक नहीं बची हूँ।

इतना कहने के बाद युवती ने जाजमऊ से गंगा नदी में छलांग लगा दी। हालांकि, मौके पर मौजूद गोताखोरों ने उसे बचा लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस उसे चकेरी थाने लेकर पहुंची। युवती की तहरीर पर देर रात दरोगा के खिलाफ दुष्कर्म समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

मिर्जापुर के लालगंज थाना क्षेत्र में रहने वाली 19 साल की युवती के फूफा कानपुर ट्रैफिक पुलिस में तैनात है। नाम दरोगा गिरजा शंकर तिवारी है। जनवरी 2021 में प्रयागराज में हुए माघ मेले में उनकी ड्यूटी लगी थी। इस दौरान उसे परिवार के साथ प्रयागराज घूमने के लिए बुलाया और होटल में जूस में नशीली गोलियां देकर उसके साथ दुष्कर्म किया और अश्लील वीडियो बना लिया। इसके बाद वीडियो वायरल करने की धमकी देकर 8 महीने से उसके साथ लगातार रेप करता रहा।

इस बीच वह गर्भवती हुई तो उसे दवाइयां देकर गर्भपात भी करा दिया। इतना ही नहीं 10 सितंबर दिन शुक्रवार को पीड़िता को कानपुर बुलाया और चकेरी मोड़ स्थित अपने आवास पर ले गया। यहां पर दरोगा और उसके बेटे ने बेरहमी से पिटाई की।

थाना प्रभारी मधुर मिश्रा ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर दरोगा के खिलाफ रेप और मारपीट समेत अन्य गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है। उसके बेटे को भी एफआईआर में मारपीट का आरोपी बनाया गया है।

पीड़िता ने बताया कि इससे पहले भी उसने दरोगा के खिलाफ पुलिस में शिकायत की थी, लेकिन उसके रसूख के चलते कहीं भी सुनवाई नहीं हुई थी। दरोगा की प्रताड़ना से वह तंग आ चुकी थी। इसी के चलते उसने आत्महत्या करने से पहले डायल-112 पर आपबीती बताने के बाद गंगा में छलांग लगाई। ताकि दरोगा के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सके।

पुलिस ने बताया कि पीड़िता का एफआईआर दर्ज करने के साथ ही उसका बयान भी लिया गया है। इसके बाद उसे डफरिन मेडिकल के लिए भेजा गया है। उधर, एक टीम को आरोपी दरोगा की गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है। वह दरोगा के घर और नजदीकियों के यहां दबिश दे रही है। थाना प्रभारी ने कहा कि मेडिकल के बाद पीड़िता का मजिस्ट्रेटी बयान कराया जाएगा। इसके बाद आरोपी को जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी।