हिंदुस्तान की ये पहली सोसायटी है जहां भीषण गर्मी में भी AC लगाना है मना, एक तरफ गर्मी का कहर और दूसरी तरफ बिना AC के कैसे हो गुजर ?

गर्मी  का आलाम दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है ! ऐसे में जहां एक तरफ बिना AC के रहना मुश्किल हो रहा है तो दूसरी तरफ एक सोसायटी ऐसी भी है ! जहां ऐसी लगाने पर ही पाबंदी है ! चाहे जो हो जाए और चाहे जितनी गर्मी पड़ जाए लेकिन इस सोसायटी में ऐसी नहीं लगाया जा सकता ! हां पंखे से आपको गुजारा करना होगा और पंखे से काम न चले तो फिर कूलर लगा सकते हैं लेकिन ऐसी के बारे में सोचना भी मत ! जब इस सोसायटी के बारे में हमें पता चल तो चौंक कि आखिर ऐसे नियम क्यों बनाए गए हैं और क्या सोसायटी के सेक्रेटरी से लोग इसकी शिकायत नहीं करते ! हकीकत को जब जानने की कोशिश की तो फिर कुछ ऐसे खुलासे हुए ! जिनके बारे में जानने के बाद आप खुद लाजवाब हो जाएंगे और आपको जवाब देते नहीं बनेगा !

गर्मियों में मई और जून का महीना सबसे ज्यादा क्रूशल होता है और ऐसे में अगर ऐसी न मिले तो तमाम दिक्कते भी होती हैं ! लेकिन आगरा ( Agra) शहर की दयालबाग कालोमी में किसी भी घर में आप ऐसी नहीं लगा सकते ! और लोग यहां बिना ऐसी के मजे में रहते भी है ! यहां के लोग ऐसे हैं तो ऐसी अफॉर्ड कर सकते हैं लेकिन किसी ने भी अपने घर में एसी नहीं लगवाया है ! वजह है यहां का इको फ्रेंडली माहौल ! जिसमें यहां हर घर के बाहर से लेकर भीतर इतने अधिक पेड़ हैं कि घरों का तापमान शहर से कई डिग्री कम रहता है !

तभी तो सिर्फ कूलर से ही लोगों को गर्मी से राहत मिली रहती है ! जब लोगों से पूछा गया तो उनका साफ कहना था कि उन्हे नेचर यानि प्रकृति से बहुत प्यार है और उन्हे पता है कि ऐसी की ठंडक शरीर के लिए बेहद हानिकारक होती है ! इसलिए हम लोग ऐसी न लगवाकर सिर्फ कूलर से अपना काम चलाते हैं और यकीन मानिए कि कूलर भी आस पास पेड़ पौधे होने की वजह से ऐसी ठंडी हवा देते हैं कि उनके सामने ऐसी फेल हो जाए ! दयालबाग सोसायटी के लोगों ने साबित कर दिया है कि पेड़ पौधे कैसे हमारे लिए सहायक साबित हो सकते हैं और क्यों हमें अपने घर के आस पास पेड़ पौधे लगाने चाहिए ! जिनसे की हमारा पर्यावरण भी सुरक्षित रहे और हमें गर्मियों में ऐसी जैसे यंत्र की जरूरत भी महसूस न हो !

 !

14 thoughts on “हिंदुस्तान की ये पहली सोसायटी है जहां भीषण गर्मी में भी AC लगाना है मना, एक तरफ गर्मी का कहर और दूसरी तरफ बिना AC के कैसे हो गुजर ?

  1. Wow wonderful blog layout How long have you been blogging for you make blogging look easy The overall look of your site is great as well as the content

  2. Thank you I have just been searching for information approximately this topic for a while and yours is the best I have found out so far However what in regards to the bottom line Are you certain concerning the supply

  3. Your writing is not only informative but also incredibly inspiring. You have a knack for sparking curiosity and encouraging critical thinking. Thank you for being such a positive influence!

  4. I loved as much as youll receive carried out right here The sketch is attractive your authored material stylish nonetheless you command get bought an nervousness over that you wish be delivering the following unwell unquestionably come more formerly again as exactly the same nearly a lot often inside case you shield this hike

  5. I do trust all the ideas youve presented in your post They are really convincing and will definitely work Nonetheless the posts are too short for newbies May just you please lengthen them a bit from next time Thank you for the post

  6. Its like you read my mind You appear to know so much about this like you wrote the book in it or something I think that you can do with a few pics to drive the message home a little bit but instead of that this is excellent blog A fantastic read Ill certainly be back

  7. Informative article on maximizing social media ROI. If you’re looking for professional help, Youtubeviews is an excellent option for social media marketing services.

  8. Ive read several just right stuff here Certainly price bookmarking for revisiting I wonder how a lot effort you place to create this kind of great informative website

  9. Thanks I have recently been looking for info about this subject for a while and yours is the greatest I have discovered so far However what in regards to the bottom line Are you certain in regards to the supply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *