ये चंद एक्सरसाइज रखेंगी आपको फिट एंड फाइन

साल 2020 में जहां एक वर्ग ऐसा भी था, जिसने लॉकडाउन के समय खुद को फिट रखने का संकल्प लिया और जमकर 4-6 महीने एक्सरसाइज़ेस की। तो वहीं एक वर्ग ऐसा भी था, जिसका खुद को शीशे में फिट देखने का सपना बनकर ही रह गया। उन्होंने इन 4-6 महीने जमकर नए पकवानों का स्वाद लिया और घर में 10 हजार स्टेप्स भी पूरे नहीं किए। तो आज हम कुछ ऐसी एक्सरसाइज़ेज से रू-ब-रू होंगे जिससे आप फिट और तनावमुक्त रह सकेंगे तो चलिए शुरू करते हैं एक्सरसाइज़…

साइड प्लैंक –

शरीर को एक करवट पर रखकर एक हाथ के सहारे शरीर को खड़ा करना पड़ता है। इसे करने के लिए शरीर को एक हाथ और दोनों के सहारे टिका कर 30 सेकंड तक रखें। अपने पेट और थाइज़ को ऊपर की ओर उठाने की कोशिश करें। इसे 10 बार करें। इससे फैट बर्न होता है। अलग-अलग अंगों की मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

एब्डॉमिनल क्रंचेस –

पीठ के बल लेटकर एक पैर को 90 डिग्री पर उठते हुए दोनों हाथों से पैर के टखने को पकड़ें। उसके बाद उस पैर को नीचे रखें। दूसरे पैर को उठाकर पकड़ें और फिर छोड़ें। ऐसा 10 बार करें। शुरुआत में यह बहुत कठिन लगेगा, लेकिन धीरे-धीरे इसकी प्रैक्टिस बढ़ाकर आप अपनी टमी को कम करने में सफलता पा सकती है।

क्रंच –

जिस तरह पुश अप्स कई विधियों से होता है, ठीक उसी तरह क्रंच भी कई विधियों से किया जा सकता है। इसे करने के लिए लोअर एब्स और साइड फ्लैब करते हुए विभिन्न वेरिएशन का इस्तेमाल किया जा सकता है। आयन मैन एक पॉपुलर व्यायाम है। आप आयन मैन पोज़िशन में देर तक रहें। इससे कुछ ही दिनों में टमी कम हो जाएगी।

पिलाटेज़ का तरीका –

मैट पर बैठ जाएं। अपनी बांयी ओर बॉल रखकर बैठें और बाएं पैर को अपनी ओर मोड़ें। इस दौरान आपका दायां पीछे की दिशा में होगा। अपना बायां हाथ बॉल पर रखें और कोहनियों को थोड़ा मोड़ें। कंधे की ऊंचाई तक दाएं हाथ को फैलाएं। बाएं हाथ को बैंड करते हुए बॉल की दाहिनी ओर ले जाएं। चार से पांच सेकेंड के लिए रूकें और फिर इसी प्रक्रिया को दाएं पैर से दोहराएं।

सभी जानते हैं कि फिट रहने के लिए डाइट और व्यायाम दोनों बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। ऐसे में पेट को हल्का ही रखें। हमेशा भरपेट खाना न खाएं। सोने से ठीक 2-3 घंटे पहले डिनर कर लें। इस हिसाब से ही अपनी दिनचर्या बनाएं। पूरी नींद लेनी भी बेहद जरूरी है। अगर आप इन सभी चीज़ों को फॉलो करते हैं तो यकीन मानें आपका वज़न निश्चित रूप से कम हो जाएगा।