करहल विधानसभा सीट से अखिलेश यादव ने किया नामांकन

 लखनऊ : उत्तर प्रदेश की में सत्ता वापसी का संकल्प लिए समजावादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने सोमवार को करहल विधानसभा सीट से नामांकन कराया। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने पेतृक गांव सैफई से नामांकन कराने के लिए मैनपुरी के लिए रवाना हुए। अखिलेश यादव जिस विजय रथ से पहुंचे उसकी हनुमान मंदिर में पूजा की गई। इसके बाद अखिलेश इस गुलाबी रंग की विजय रथ पर सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे।

सैफई से करहल के बीच लोगो ने अखिलेश यादव का जमकर स्वागत किया।रथ में सवार अखिलेश यादव ने भी लोगो का अभिवादन स्वीकार किया।अखिलेश यादव के रथ के साथ सैकडो वाहनो का काफिला अखिलेश यादव के आगे पीछे रहा। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस के पुख्ता इंतजाम थे।अखिलेश यादव का रथ करीब एक बजे मैनपुरी कलेक्ट्रेट पहुंची।

अखिलेश यादव के साथ विजय रथ पर करहल विधायक सोवरन सिंह यादव के साथ मैनपुरी से सासंद रहे तेजप्रताप यादव भी सवार थे। अखिलेश यादव के विजय रथ को अखिलेश के निजी सचिव गजेन्द्र खुद चला रहे थे।

नामांकन के लिए रवाना होने से पहले अखिलेश यादव को प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव समेत पार्टी के कई नेताओं ने अखिलेश यादव को शुभकामना दी और साथ ही सपा की प्रचंड बहुमत की सरकार बनने की कामना की। विधानसभा चुनाव के व्यस्त कार्यक्रम के मद्देनजर इटावा और मैनपुरी में फिलहाल ज्यादा समय न दे सकें।

अखिलेश यादव के खिलाफ करहल विधानसभा सीट से भारतीय जनता ने एसपी सिंह बघेल को अपना प्रत्याशा घोषित किया है। कांग्रेस ने इस सीट से ज्ञानवती यादव को और बसपा ने कुलदीप नारायण को उम्मीदवार बनाया है। करहल में चुनाव के तीसरे चरण में 20 फरवरी को मतदान होना है।